नाभि ( सुंडी ) के बारे में रोचक तथ्य ( AMAZING FACTS ABOUT NAVEL IN HINDI )

AMAZING FACTS ABOUT NAVEL IN HINDI 

  1. सरसों का तेल नाभि में लगाने से फटे हुए होंठ ठीक हो जाते हैं और मुलायम भी |

 

  1. महिलाओं की नाभि छूने या चूमने से उनमें सेक्स बढ़ता है, यह बहुत ही कामुक स्थान होता है |

 

  1. नाभि एक प्रकार का निशान है, दरअसल पैदा होने के बाद जब माँ की नाल से जुड़ी बच्चे की गर्भनाल को डॉक्टरों द्वारा बांधकर अलग किया जाता है तो बच्चे के पेट पर एक निशान बन जाता है, जिसे हम नाभि बोलते हैं |

 

  1. नाभि हमारे शरीर का सबसे गन्दा भाग होता है, इसमें लगभग 1458 तरह के बैक्टीरिया पाए जाते हैं |

 

  1. दुनिया के 4% लोगों की नाभि बाहर निकली होती है, बाकि 96% लोगों की नाभि अन्दर घुसी होती है, बाहर निकली नाभि तब होती है, जब डॉक्टर गर्भनाल को ठीक प्रकार से बाँध नहीं पाते |

 

  1. बाहर निकली नाभि को ऑपरेशन से अन्दर को ओर कर सकते हैं, इस तरह  के ऑपरेशन को “ UMBILICOPLASTY “ कहते हैं

 

  1. नाभि केवल दूध पिलाने वाले यानि स्तनधारियों में ही पाई जाती है, अंडे देने वाले जानवरों में नाभि नहीं होती |

 

  1. महिलाओं की तुलना में पुरुषों की नाभि के आस पास ज्यादा रोंगटे ( छोटे बाल ) होते हैं |

 

  1. नाभि में कभी भी कान, नाक की तरह छेद न कराएँ क्योंकि नाभि छेद को ठीक करने में 9 महीने का समय ले लेती है, जबकि नाक और कान का छेद केवल 6 हफ्ते में ठीक हो जाता है |

 

  1. किन्ही दो लोगों की नाभि एक जैसी नहीं हो सकती, हर व्यक्ति की नाभि अलग-अलग होती है, क्योंकि हर किसी की नाभि में अलग-अलग बैक्टीरिया होते हैं |

 

  1. नाभि के खिसकने से पेट में दर्द हो सकता है और आपको दस्त लग सकते हैं, नाभि का सही स्थान पर रहना स्वस्थ रहने का भी प्रतीक है, नाभि शरीर के साथ मूल चक्रों में से एक चक्र है |

 

  1. पुरुषों की नाभि में ज्यादा रुई मिलती है, जिन लोगों की नाभि बाहर की तरफ होती है, बस यही एक फायदा मिलता है, “ ग्राहम बारकर “ नाम के आदमी ने नाभि से निकली हुई सबसे ज्यादा रुई इकट्ठी करके वर्ल्ड रिकॉर्ड भी बना दिया है |

 

  1. “ KAROLINA KURKOVA “ जिसे 2008 में दुनिया की सबसे सेक्सी महिला चुना गया था उसकी नाभि ही नहीं थी, दरअसल जब वह बच्ची थी तो उन्हें एक अलग तरह का हर्निया हो गया था, जिसे सर्जरी से ठीक किया गया इससे नाभि की जगह इनके पेट पर सिर्फ डिम्पल जैसा निशान रह गया |

 

  1. साइंटिस्ट, नाभि पर शोध कने के लिए लाखों रूपये खर्च कर चुके हैं, क्योंकि उनका मानना है कि नाभि की जगह ठीक हो तो कई खेलों में फायदा मिल सकता है | जैसे नाभि का नीचे होने पर तैरने में, नाभि का ऊपर होने पर दौड़ने में ETC |

 

  1. नाभि को छूने से होने वाले डर को “ OMPHALOPHOBIA “ कहते हैं |

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0 Shares
Share
Tweet
Pin
+1
Share