चूहों के बारे में रोचक तथ्य ( AMAZING FACTS ABOUT RAT IN HINDI )

AMAZING FACTS ABOUT RAT IN HINDI

  1. चूहा बिना पानी पिए ऊंट से भी ज्यादा समय तक जीवित रह सकता है |

 

  1. यदि आप 1912, 1924, 1936, 1948, 1960, 1972, 1984, या 1996 में पैदा हुए हो तो चीनी ज्योतिष के अनुसार आप भी चूहे हैं |

 

  1. वायरल बुखार से लेकर प्लेग तक लगभग 35 बीमारियों के लिए चूहे जिम्मेदार होते हैं |

 

  1. चूहों को पसीना नहीं आता यह अपनी पूंछ में मौजूद रक्त वाहिकाओं को फैलाकर और सिकोड़कर शरीर का तापमान नियंत्रण करते हैं |

 

  1. चूहों के पास नाभि होती है लेकिन पित्त की थैली नहीं होती और यह उल्टी भी नहीं कर सकते |

 

  1. दुनिया का सबसे बड़ा चूहा छोटे कुत्ते के आकार का है इसकी सिर से पूंछ तक की लम्बाई 3 फीट है |

 

  1. दुनिया के सबसे भारी चूहे का वजन लगभग 4 किलो है |

 

  1. अगर चूहों को सिखाया जाए तो यह अपने नाम को याद रख सकते हैं, और जमीन में दबी माइंस को सूंघकर खोज सकते हैं |

 

  1. “ NAKED MOLE “ चूहे को दर्द नहीं होता और यह कैंसर का भी प्रतिरोधी है |

 

  1. कंगारू चूहे जितने रेगिस्तानी होते हैं कि बिना पानी के पूरा जीवन गुजार सकते हैं |

 

  1. गुदगुदी करने पर केवल इन्सान ही नहीं चूहे भी हँसते हैं, चूहे खुश होने पर पानी आँखे टिमटिमाते हैं |

 

  1. एक चूहे का दिल एक मिनट में औसतन 632 बार धड़कता है जबकि मनुष्यों का प्रति मिनट सिर्फ 60 से 100 बार धड़कता है |

 

  1. चूहे ध्वनि की गति से भी तेज अल्ट्रासाँनिक तरंगे पैदा करते हैं जिनकी तीव्रता 50 से 100 किलोहर्ट्ज के बीच होती है, इंसानों के कान इस तीव्रता की ध्वनि तरंगे नहीं सुन सकते है, जब इन तरंगों को इस लायक बनाया गया कि इन्सान सुन सके तो यह आवाजें सीटियों जैसी थीं |

 

  1. 2011 के एक प्रयोग में चूहे के सामने चौकलेट, चिप्स और पिंजरे में बंद एक और चूहा पेश किया गया, परिणाम सामने यह आया कि उसने पहले पिंजरे में बंद चूहे को आजाद कराया और फिर खाना भी साझा किया |

 

  1. कनाडा के शहर अलबार्टा में एक भी चूहा नहीं है, इस शहर में हर साल लगभग 12 चूहे कही न कही से आ जाते हैं, लेकिन वो प्रजनन करने से पहले ही विशेषज्ञों द्वारा मार दिए जाते हैं |

 

  1. यदि चूहे को सिंपल और ड्रग वाला पानी पीने को दिया जाए तो यह हमेशा ड्रग वाला पानी चुनेगा |

 

  1. चूहा लगातार 3 दिन तक पानी में तैर सकता है, तीन मिनट तक साँस रोक सकता है, और टॉयलेट फ्लश करने करने पर भी जिन्दा बच सकता है | (और उसी रास्ते से वापिस भी आ सकता है क्योंकि इनकी याद्दाशत बहुत तेज होती है ) |

 

  1. चूहे को अच्छे से दिखाई नहीं देता लेकिन इनकी सूंघने और चखने की शक्ति कमाल की होती है, यह चूहे मारने की दवा का स्वाद केवल थोड़ा सा चखकर हमेशा के लिए याद कर सकते हैं |

 

  1. चूहा उन जानवरों में से एक है, जिन्हें सबसे पहले अन्तरिक्ष में भेजा गया, अन्तरिक्ष में सबसे पहला चूहा 1961 में फ्रांस ने भेजा था |

 

  1. भारत के राजस्थान के बीकानेर में एक “ DESHNOKE “ नाम की जगह है जहाँ “ कर्णी माता “ नाम का चूहों का मंदिर है, इसमें 20,000 से ज्यादा चूहे हैं, यहाँ लोग प्राथना करने आते हैं, और चूहों को अनाज और दूध खिलाते हैं |

 

  1. 19 वीं शताब्दी में, लन्दन में ‘RAT BAITING ‘ खेल बहुत प्रसिद्ध था, इसमें सैकड़ो चूहों के पीछे उन्हें मारने के लिए एक आदमी या कुत्ते को लगाया जाता था, इस खेल में “जैको” नाम के एक आदमी ने सन 1862 में 5 मिनट 28 सेकेंड में 100 चूहे मारकर रिकॉर्ड बनाया था |

 

  1. चूहा अगर 50 फीट यानि 5 मंजिला इमारत से भी कूद जाए तो भी उसे चोट नहीं लगेगी |

 

  1. बिल्ली और चूहों में एक खास बात यह होती है कि यह समुद्र का पानी भी पी सकते हैं |

 

  1. चूहों के दांत जीवनभर बढ़ते रहते हैं, हर साल 4 से 5 इंच बढ़ते हैं, इन्हें कंट्रोल करने के लिए चूहे अपने दांतों को पीसते रहते हैं, और चीजो को कुतरते रहते है, यह तार, सीमेंट, लकड़ी, कपड़े, शीशे से लेकर एलुमिनियम तक को कुतर सकते हैं, अगर चूहे ऐसा नहीं करेंगे तो उनके दांत उनके जबड़े के बाहर निकल जायेगा और फिर यह न अपना मुँह बंद कर पायेंगे और न ही कुछ खा पायेंगे और फिर इनकी मौत हो जाएगी |

 

  1. चूहों में जनसँख्या बढ़ाने की गति इनती तीव्र होती है, कि वे 18 महीनों में 2 लाख से ज्यादा वंशज पैदा कर सकते हैं, एक चूही एक साल में 15 बार 6 घंटे तक 500 चूहों के साथ संभोग कर सकती है, चूहे 3 से 4 महीने की उम्र में सेक्स के लायक हो जाते हैं |

 

  1. ENGLISH में चूहे को MOUSE, RAT, या MICE कहते हैं, MOUSE शब्द संस्कृत के मस ( MUS ) शब्द से बना है, जिसका अर्थ होता है – चोर |

 

  1. अगर हम दुनिया के सभी चूहों को मार दें तो पहली बात तो ऐसा संभव ही नहीं है और अगर संभव हो भी जाता है तो ऐसा करने से वैज्ञानिकों को नए प्रयोग करने में काफी दिक्कत का सामना करना पड़ेगा, खासकर के ड्रग और दवाओं का प्रयोग क्योंकि इन सबका प्रयोग चूहों पर ही किया जाता है, ऐसे जानवर जिनका मुख्य भोजन चूहा ही हैं, वो धीर-धीरे विलुप्त हो जायेंगे और कई ऐसे कचरे जिसको चूहे खत्म करते हैं वो नहीं हो पायेगा बस यही होगा और कोई खास प्रभाव नहीं पड़ेगा |

 

  1. हम चूहों और मच्छरों को जड़ से खत्म नहीं कर सकते, क्योंकि यह कम समय में बहुत ज्यादा बच्चे पैदा करते हैं, हम जितने समय में इन जीवो की आधी आबादी को खत्म करेंगे उस से बहुत कम समय में यह अपनी आबादी को दोगुना कर लेंगे, पूरी दुनिया में चूहों और मच्छरों की अनगिनत आबादी है, जिन दवाओं से इनको मारा जाता है, उन दवाओं से और भी जीवों को नुकसान होता है, जैसे मच्छर मारने वाली दवा से मक्खी और मधुमक्खी भी मर जाते हैं और चूहे मारने वाली दवा से बहुत सी चिड़ियाँ और कुत्ते भी मर जाते हैं, तो यह भी संभव है कि चूहे और मच्छर को मारने के चक्कर में दूसरे ही जीव मर जाए |

 

  1. वैज्ञानिक हमेशा चूहों पर ही प्रयोग क्यों करते हैं, चूहों पर अधिक प्रयोग करने की वजह यह है, कि यह किसी भी जगह के अनुसार अपने आप को बहुत जल्दी ढाल लेते हैं, और इनके दिमाग की बनावट और काम करने का तरीका बिल्कुल इंसानों के जैसा ही है, इसलिए जब भी किसी ड्रग या दवा आदि का असर देखना हो तो इंसानों से पहले चूहों पर ही देख लिया जाता है, वैज्ञानिक प्रयोगों में चूहा सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाता है, पहली बार रिसर्च में चूहे का इस्तेमाल 200 से अधिक साल पहले भोजन और ऑक्सीजन की कमी के कारण मानव शरीर पर पड़ने वाले प्रभावों के अध्ययन के लिए किया गया था, NOBEL PRIZE विजेता भी लैब में चूहों का प्रयोग खर चुके हैं |

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0 Shares
Share
Tweet
Pin
+1
Share